परम शिवा हैं जो निराकार हैं, जो साधक शिवघर्म का पालन करते हुए , कुं... - dofaq.co
परमशिवा

परम शिवा हैं जो निराकार हैं, जो साधक शिवघर्म का पालन करते हुए , कुं...

wikipedia - 14 Oct 2020
परम शिवा हैं जो निराकार हैं, जो साधक शिवघर्म का पालन करते हुए , कुंडलिनी जागृत कर षट् चक्र भेदन कर जब सहस्रार चक्र से होते हुई परम शिवा में लीन होता है ,वही मोक्ष का परम स्थान है. परम शिवा ही सृष्टि के रचनाकार हैं ओर वही देवों के देव महादेव हैं जो काल बन कर शिवधर्म भष्र्ट सृष्टि का विनाश करते हैं.कुंडलिनी कुंडली के आकार की रचना को कुण्डलिनी या हैलिक्स कहते हैं।

What's New